रक्त थ्रॉम्बोसिस के बढ़ते खतरों से बचें-डॉक्टर शिवराज इंगोले

63

✒️अनिल बेदाग(मुंबई प्रतिनिधी)

मुंबई(दि.4ऑक्टोबर):-ब्लड थ्रॉम्बोसिस को हिंदी में “रक्त थ्रॉमबोसिस” या “रक्त गांठन” कहा जाता है। यह एक मेडिकल स्थिति है जिसमें रक्त में गांठ या थ्रॉम्बस बन जाते हैं, जिससे खून की प्रवाहनी को बंद कर दिया जाता है। यह गांठ रक्त वाहिनियों में या गहरे नसों में विकसित हो सकती है और यदि यह बड़ी हो जाए, तो यह गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती है। डॉक्टर्स आमतौर पर रक्त थ्रॉम्बोसिस के उपचार के लिए दवाओं और चिकित्सा प्रक्रियाओं का सुझाव देते हैं ताकि इस समस्या को नियंत्रित किया जा सके।

मुंबई के जे जे अस्पताल एवं ग्रांट मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर और इंटरवेंशनल रेडियोलाजिस्ट डॉक्टर शिवराज इंगोले कहते हैं कि रक्त थ्रॉम्बोसिस के कारण हिंदी में:वयस्कता: बढ़ती आयु और मोटापा थ्रॉम्बोसिस के बढ़ते कारण हो सकते हैं। अगर आप लम्बे समय तक बैठकर काम करते हैं, तो रक्त का प्रवाह सुधारने के लिए अपने पैरों के सिरे को कटने से रोकने के लिए जरूरी परिश्रम करें। दिल की बीमारियाँ, कैंसर, डायबिटीज जैसी चिकित्सा स्थितियाँ रक्त थ्रॉम्बोसिस के बढ़ने के खतरों को बढ़ा सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान रक्त थ्रॉम्बोसिस का खतरा बढ़ सकता है, क्योंकि गर्भावस्था में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। लंबे समय तक बैठकर या लेट जागकर दूरी यातायात करने वाले लोगों में रक्त थ्रॉम्बोसिस का खतरा बढ़ सकता है।कुछ दवाएं जैसे कि हॉर्मोन थेरेपी और डिज़्यूल्फीराम जैसी दवाएं रक्त थ्रॉम्बोसिस के खतरों को बढ़ा सकती हैं।आपके स्वास्थ्य पर होने वाले प्रभाव को समझने के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें, खासकर यदि आपके पास ऊपर दिए गए कारणों में से कोई भी है।

मैकेनिकल थ्रॉम्बेकटोमी एक चिकित्सा प्रक्रिया है जिसका उपयोग खून की गांठों (थ्रॉम्बाई) को खून की वाहिनियों से हटाने के लिए किया जाता है, आमतौर पर स्ट्रोक या गहरे नसों में गांठ (डीप वेन थ्रॉम्बोसिस) के इलाज के संदर्भ में। इस प्रक्रिया के दौरान, खून की गांठ को भंग करने या हटाने के लिए एक विशेषज्ञ डिवाइस का उपयोग किया जाता है, जिससे खून की चाल को पुनर्स्थापित किया जाता है और आगे के समस्याओं से बचाव किया जाता है। यह विशेष रूप से तब विचार किया जाता है जब गांठ तोड़ने वाली दवाओं (थ्रॉम्बोलिटिक्स) का प्रभावकारी नहीं होता या सुरक्षित नहीं होता। मैकेनिकल थ्रॉम्बेकटोमी का उपयोग कुछ वास्कुलर स्थितियों के इलाज में महत्वपूर्ण योगदान है, जो रोगियों के लिए परिणामों को बेहतर बनाने में मदद करता है।