लोगों की जान की दुश्मन..!

36

🔹सरकार प्रशासन और लोग एक बराबर जिम्मेवार

✒️संजय वर्मा-गोरखपूर, चौरा चौरी(प्रतिनिधी)मो:-9235885830

गोरखपूर(दि.8फेब्रुवारी):-उक्त बातें समाजसेवी संजू वर्मा ने अपने आवास सृष्टि रोड पर कहीभारत में पतंगबाजी का शौक रखने वालों की कमी नहीं है

लेकिन आजकल लोग पतंगबाजी के लिए जो चीनी धागों इस्तेमाल कर रहे हैं वह खतरे से खाली नहीं है।

यह डोर कई बच्चों की जान की दुश्मन भी बन चुकी है और अगर अब भी पतंगबाजी के लिए इस डोर का इस्तेमाल करना नहीं छोड़ते तो भविष्य में भी यह लोगों की जान की दुश्मन बनती रहेगी।

इस डोर से होने वाले हादसों के लिए सरकार, प्रशासन और लोग एक बराबर जिम्मेवार हैं।

समझ नहीं आता सरकार और प्रशासन ऐसी जानलेवा डोर पर पाबंदी लगाने के लिए गंभीरता क्यों नहीं दिखाते और न लोग अपने बच्चों को यह खरीदने से मना कर पाते।

यह बहुत शर्मनाक और निंदनीय है कि कुछ लोग चंद सिक्कों की खातिर जानलेवा डोर बेचने से परहेज नहीं कर रहे

यह न तोड़े जिंदगी की डोर, इसके लिए लोगों को पतंगबाजी के लिए इस डोर का इस्तेमाल करने से परहेज करना होगा।

खासतौर पर लोगों को चाहिए कि वे अपने बच्चों पर कड़ी नजर रखें कि कहीं वे पतंगबाजी के लिए मौत की डोर का इस्तेमाल तो नहीं कर रहे

सरकार और प्रशासन को भी इसके लिए गंभीरता दिखानी चाहिए

जिन लोगों के घरों के पास से बिजली की तारें बिछी हुई हैं उन्हें इस पर भी ध्यान रखना चाहिए कि उनके बच्चे उन तारों में फंसी पतंग लोहे या अन्य उस चीज का प्रयोग तो नहीं कर रहे जो बिजली के करंट लगने का कारण हैं।