दुष्प्रचार से बाज आएं भाजपा ; सीटू का समर्थन नहीं- बेनर्जी

68

✒️कोरबा(पुरोगामी न्युज नेटवर्क)

कोरबा(दि.20ऑक्टोबर):-सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियंस (सीटू) के प्रदेश अध्यक्ष एस एन बेनर्जी ने भाजपा को राजनैतिक लाभ के लिए दुष्प्रचार से बाज आने की चेतावनी देते हुए कहा है कि भाजपा जैसी सांप्रदायिक पार्टी को सीटू जैसे लड़ाकू मजदूर संगठन के समर्थन का सवाल ही पैदा नहीं होता।

आज यहां जारी एक बयान में सीटू नेता ने स्पष्ट किया है कि कोरबा विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी लखनलाल देवांगन अपने जन संपर्क अभियान के दौरान बालको स्थित सीटू कार्यालय पहुंचे थे। एक प्रत्याशी के रूप में उन्होंने अपनी बातें भी रखी। लेकिन अब भाजपा द्वारा सीटू कार्यालय में इस जन संपर्क के फोटो डालकर सीटू का भाजपा को समर्थन बताना सरासर आपत्तिजनक और चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है।

भाजपाई दुष्प्रचार को आड़े हाथों लेते हुए सीटू नेता ने कहा है कि बालको का मजदूर वर्ग इस बात को नहीं भूलेगा कि देश के प्रतिष्ठित सार्वजनिक उद्योग बालको का निजीकरण करके वेदांता जैसे कबाड़ी को औने-पौने भाव में बेचने और हजारों मजदूरों की आजीविका को संकट में डालने के लिए भाजपा ही जिम्मेदार है। आज भी भाजपा देश सार्वजनिक संपत्ति को बेचने और मजदूरों को बंधुआ गुलामी के युग में ढकेलने पर आमादा है। श्रम कानूनों को निरस्त करके कॉरपोरेटपरस्त चार श्रम संहिताओं को मजदूरों पर थोपने की वह कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि यह सीटू और वामपंथी संगठन ही है, जो भाजपा की मजदूर विरोधी, देश तोड़क नीतियों के खिलाफ अनवरत संघर्ष कर रही है और संविधान और लोकतंत्र की रक्षा, सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता की लड़ाई को आगे बढ़ा रही है।

सीटू के राज्य अध्यक्ष बेनर्जी ने कहा कि पिछले पांच सालों के दौरान भूविस्थापित ग्रामीणों और बालको, एनटीपीसी और एसईसीएल के मजदूरों का संघर्ष तेज हुआ है और इसके खिलाफ भाजपा कॉरपोरेटों और प्रबंधन के साथ खड़ी रही है। इस चुनाव में भी भाजपा के पास आम जनता के कोई मुद्दे नहीं है और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करके ही वह सत्ता पर काबिज होना चाहती है। लेकिन सीटू और प्रदेश की जनवादी ताकतें भाजपा के इस मंसूबे को पूरा नहीं होने देगी।

सीटू ने आम जनता का आह्वान किया है कि मजदूर वर्ग और नागरिक अधिकारों की रक्षा के लिए कोरबा और प्रदेश में भाजपा की हार को सुनिश्चित करें।